News around you

श्रीमद भागवत कथा में गिरीराज पूजन और छप्पन भोग की महत्तता पर कथा व्यास ने डाला प्रकाश

मोहाली मेयर अमरजीत सिंह जीती सिद्वू ने श्रीमद भागवत कथा में टेका माथा

मंदिर  में आने वाले श्रद्वालुओं के पूजा-पाठ व आयोजित धार्मिक कार्यक्रमों में उचित व्यवास्था करवाना कमेटी पदाधिकारियों का कर्तव्यः प्रधान महेश चन्द्र मनन

मोहाली:  श्री हरि मंदिर संकीर्तन सभा,  मोहाली (फेस-5)  में चल रही श्रीमद भागवत कथा ज्ञान यज्ञ के पांचवे दिन गिरीराज पूजन और छप्पन प्रकार के भोग की उपमा के बारें में कथा व्यास ने श्रद्वालुओं को विस्तारपूर्वक जानकारी दी। इस दिन मंदिर परिसर Bhagwat2में विभिन्न मंदिर कमेटी के पदाधिकारियों के अलावा मोहाली नगर निगम के मेयर अमरजीत सिंह जीती सिद्वू, पार्षद मैडम बलजीत कौर सहित अन्य गणमान्य व्यक्तियों ने शिरकत  की;  कार्यक्रम में अतिथियोंगणों का मंदिर कमेटी पदाधिकारियों ने विशेष तौर पर सम्मानित किया और कथा व्यास ने अपना आर्शीवाद भी दिया।
कथा के पांचवें दिनएक ओर जहां श्रीमद भागवत कथा व्यास श्री नगली दरबार के संत स्वामी सुरेश्वरानंद पुरी जी महाराज ने पिछले तीन दिनों में सुनाई गई श्रीमद भागवत कथा का संक्षेप प्रस्तुत करके अवगत करवाया, वहीं गिरीराज पूजन और छप्पन भोग के बारें में जानकारी दी और महत्तता को भी बताया। इस दौरान स्वामी जी ने मंदिर कमेटी के पदाधिकारियों द्वारा निःस्वार्थ भाव से की जाने वाली सेवाओं और उत्तम व्यवास्था की प्रशंसा भी की। इस दौरान फेस-5 स्थित श्री हरि मंदिर संकीर्तन सभा रजिस्टर्ड मोहाली मौजूदा प्रधान महेश चन्द्र मनन और उनकी समूची टीम जिसमें सचिव सुरेन्द्र सचदेवा,उपसचिव किशोरी लाल,कोषाध्यक्ष राम अवतार शर्मा,मैंबर सुखराम धीमान,राजकुमार गुप्ता,बलराम धनवान,किशन कुमार शर्मा,चंदन सिंह, हंसराज खुराना,राकेश सोंदी, शिव कुमार राणा,अरूण शर्मा, विजय शर्मा ने बताया कि   मंदिर  में आने वाले श्रद्वालुओं के पूजा-पाठ व आयोजित धार्मिक कार्यक्रमों में उचित व्यवास्थ करवाना कमेटी पदाधिकारियों का कर्तव्य है, जिसको लेकर उनका यही प्रयास रहा है कि कभी किसी भी श्रद्वालु को किसी तरह की परेशानी का सामना न करना पडे। इस मौके पर मंदिर की महिला सकीर्तन मंडलअध्यक्षBhagwatराजबाला,कोषाध्यक्ष सुभाष सचदेवा,राज खुराना, शुभ मनन,चंचल रानी,वीना चौपडा,रीत शर्मा, पंडित शंकर शास्तरी समूची टीम और सुनीता रानी के अलावा भारी संख्या में श्रद्वालुओं ने हिस्सा लिया और श्रीमद भागवत कथा का खूब आनंद माना। उन्होंने बताया कि श्रीमद भागवत कथा के सातों दिन के यजमान के तौर पर सेवा कार्य मैडम मीनू तायल और सुशील तायल परिवार की ओर से निभाई जा रही है। उन्होंने बताया कि श्रद्वालुओं के लिए सातों दिन श्रीमद भागवत कथा के समापन मौके पर अटूट भंडारा और अनेकों तरह के प्रसाद का भंडारा लगाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इसके बाद कथा के छठें दिन श्री किशन रूकमणि विवाह उत्साह और 18 मई को सुबह 8 बजे से 10 बजे तक हवन, के बाद आयोजित कार्यक्रम में द्वारिका लीला,सुदामा चरितर, परिक्षित मोक्ष कथा शामिल रहेगी और उसके बाद 1 बजे से श्रद्वालुओं के लिए अटूट भंडारे का आयोजन किया जाएगा।                                                                                                                                     (विजयपाल- रिपोर्ट सहित)

Comments are closed.